सोयाबीन वायदा (अगस्त) की कीमतों में पिछले कुछ दिनों से खरीदारी देखने को मिल रही है . वही जानकारों की माने तो सोयाबीन के भाव ऊपर में 3900 रुपये के स्तर को छू सकते  है। वही अगर प्रमुख उत्पादन क्षेत्र मध्य प्रदेश में यदि मानसून अगले एक हफ्ते तक या उससे आगे ऐसे ही कमजोर बना रहता है तो किसानो को सोयाबीन की फसल में नुकसान होने का डर सता रहा हैं। नतीजा यह हो रहा है कि खेतों में दरारें पड़ने लगी हैं और फसल को नुकसान पहुँचाना शुरू कर दिया है। कई क्षेत्रों में सोयाबीन के पौधे पीले पड़ने लगे हैं और पौधें की वृद्धि प्रभावित हुई है।

सीबोट में अमेरिकी सोयाबीन वायदा की कीमतों में दो हफ्ते के निचले स्तर से बढ़त देखी जा रही है लेकिन अमेरिकी सोयाबीन के बंपर उत्पादन अनुमान के कारण बढ़त सीमित है। सीबोट में सोयाबीन का सबसे सक्रिय वायदा 0.1% की गिरावट के साथ 8.88 डॉलर पर कारोबार कर रहा है।

सरसों वायदा (अगस्त) की कीमतों के 4,920-4,950 रुपये तक बढ़त दर्ज करने की संभावना है। पेराई के लिए स्थिर माँग और इस सर्दी में उपजने वाली तिलहनों की कम उपलब्धता के कारण कीमतों को मदद मिल रही है।

सोया तेल (अगस्त) की कीमतें 840-850 रुपये के दायरे में कारोबार कर सकती है जबकि सीपीओ (अगस्त) की कीमतें 700-715 रुपये के दायरे में कारोबार कर सकती हैं। डेलियान और सीबोट में अन्य खाद्य तेल की कीमतों में गिरावट के कारण मलेशियन पॉम ऑयल की कीमतों में आज दूसरे दिन गिरावट हुई है। मलेशिया में पॉम ऑयल के अधिक उत्पादन अनुमान के कारण बीएमडी में पॅाम ऑयल अक्टूबर वायदा की कीमतें 2.4% की गिरावट के साथ 2,608 रिंगिट पर बंद हुई है। डेलियान में सोया तेल की कीमतों में 2.4% और पॉम ऑयल की कीमतों 2.8% की गिरावट हुई है। सीबोट में सोया तेल की कीमतों में 1.5% की गिरावट हुई है।