प्रधानमंत्री ने 9 अगस्त को 8.5 करोड़ किसानों के बैंक अकाउंट में 17 हजार करोड़ रुपये ट्रांसफर किए थे. उसके बाद अगले 20 दिन में केंद्रीय कृषि मंत्रालय ने 30 लाख और किसानों को 2-2 हजार रुपये भेज दिए हैं. हम बात कर रहे हैं प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम (Pradhan Mantri kisan Samman Nidhi Scheme) की. इसके साथ ही इस महीने 8 करोड़ 81 लाख लाभार्थी हो गए हैं. अगर आपके बैंक अकाउंट (Bank Account) में पैसे नहीं आए हैं तो अपना रिकॉर्ड चेक कर लें कि कहीं उसमें गलती तो नहीं है. क्योंकि इस साल नवंबर तक करीब पौने दो करोड़ और किसानों को पैसा मिलने की संभावना है. यानी अभी पैसे आने की संभावना खत्म नहीं हुई है. केंद्रीय कृषि मंत्रालय (Ministry of Agriculture) के मुताबिक 30 सितंबर तक इस स्कीम के तहत देश के लगभग 10 करोड़ 50 लाख किसानों ने रजिस्ट्रेशन करवा लिया था. ये वे किसान हैं जिनके कागजात दुरुस्त हैं. सरकार चाहती है कि इस योजना के जरिए ज्यादा से ज्यादा किसानों को डायरेक्ट उनके अकाउंट में पैसा देकर उनकी आय बढ़ाई जाए. मोदी सरकार (Modi Government) ने 2022 तक किसानों की आय दोगुनी (Doubling Farmers Income) करने का टारगेट रखा हुआ है. सरकार की इसी उम्मीद से मिलीजुली बात कुछ कृषि विशेषज्ञ भी करते हैं. इसीलिए वो इसकी रकम और बढ़ाने की वकालत कर रहे हैं. यहां तक कि स्वामीनाथन फाउंडेशन ने भी पीएम किसान स्कीम के तहत दी जाने वाली रकम को 6000 रुपये से बढ़ाकर 15,000 रुपये सालाना करने का सुझाव दिया है. दूसरी ओर, राष्ट्रीय किसान महासंघ के संस्थापक सदस्य विनोद आनंद और किसान शक्ति संघ के अध्यक्ष पुष्पेंद्र सिंह ने इसे बढ़ाकर 24 हजार रुपये करने की मांग की है.

जानिए, कौन ले सकता है लाभ और कौन नहीं 

  • ऐसे किसान जो भूतपूर्व या वर्तमान में संवैधानिक पद धारक हैं, वर्तमान या पूर्व मंत्री हैं, मेयर या जिला पंचायत अध्यक्ष हैं, विधायक, एमएलसी, लोकसभा और राज्यसभा सांसद हैं तो वे इस स्कीम से बाहर माने जाएंगे. भले ही वो किसानी भी करते हों.
  •  केंद्र या राज्य सरकार में अधिकारी एवं 10 हजार से अधिक पेंशन पाने वाले किसानों को लाभ नहीं. बाकी पात्र होंगे.
  • पेशेवर, डॉक्टर, इंजीनियर, सीए, वकील, आर्किटेक्ट, जो कहीं खेती भी करता हो उसे लाभ नहीं मिलेगा. 
  • पिछले वित्तीय वर्ष में इनकम टैक्स का भुगतान करने वाले किसान इस लाभ से वंचित होंगे.
  • केंद्र और राज्य सरकार के मल्टी टास्किंग स्टाफ/चतुर्थ श्रेणी/समूह डी कर्मचारियों लाभ मिलेगा. 

 दुरुस्त कर लें अपना रिकॉर्ड 


 जिन लोगों के अकाउंट में पैसा नहीं आया है वे भी अपना रिकॉर्ड चेक कर लें. आधार, अकाउंट नंबर और बैंक अकाउंट नंबर में गलती है तो उसे दुरुस्त कर लें, ताकि पैसा मिलने में दिक्कत न हो. रिकॉर्ड में कोई भी गड़बड़ी होगी तो आपको स्कीम का लाभ नहीं मिल पाएगा. पहले ही 1.3 करोड़ किसानों को आवेदन करने के बाद भी सिर्फ इसलिए पैसा नहीं मिल सका क्योंकि या तो उनके रिकॉर्ड में गड़बड़ी है या फिर आधार कार्ड नहीं है.

कैसे चेक करेंगे रिकॉर्ड 

 पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम की वेबसाइट (pmkisan.gov.in) को लॉग इन करें. इसके बाद इसमें दिए गए 'Farmers Corner' वाले टैब में क्लिक करें. अगर आपने पहले आवेदन किया है और आपका आधार ठीक से अपलोड नहीं हुआ है या किसी वजह से आधार नंबर गलत दर्ज हो गया है तो इसकी जानकारी इसमें मिल जाएगी. नाम की स्पेलिंग भी चेक कर लें.

 इस हेल्पलाइन नंबर पर लें मदद 

 आवेदन के बाद भी अगर आपको पैसा न मिल रहा हो तो अपने लेखपाल, कानूनगो और जिला कृषि अधिकारी से संपर्क करें. वहां से बात न बने तो केंद्रीय कृषि मंत्रालय की ओर से जारी हेल्पलाइन (PM-Kisan Helpline 155261 या 1800115526 (Toll Free) पर संपर्क करें. वहां से भी बात न बने तो मंत्रालय के दूसरे नंबर ( 011-24300606, 011-23381092) पर बात करें.